Followers

Thursday, 1 December 2011


35 comments:

  1. फॉण्ट बहुत छोटा है पढ़ने में दिक्कत हो रही है...

    ReplyDelete
  2. mitra main aapke blog par padhar bhi chuka hoon aur asan bhi grahan kar chuka hoon sabse oopar.aap bahut achchha likhte hain.yoon hi likhte rahie ham padhte rahenge.

    ReplyDelete
  3. सुंदर लेख.
    मेरे नई पोस्ट में आपका इंतजार है

    ReplyDelete
  4. स्वागत योग्य प्रस्ताव सटीक उद्धरण दिए हैं आपने अनुकरणीय .हम भी सहमत हैं इन तमाम प्रस्तावनाओं से .

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया लगा! सुन्दर प्रस्तुती!
    मेरे नये पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/
    http://seawave-babli.blogspot.com/

    ReplyDelete
  6. बहुत छोटा है पढ़ने में दिक्कत हो रही है...

    ReplyDelete
  7. please sir ki post ko padne ke liye ....ctrl + (+)key.. kar zoom ....jankari ke liye aabhar ...(jay barua non -liner editor)

    ReplyDelete
  8. अच्छा लिखा है सोचने वाली बात है ...

    ReplyDelete
  9. आलेख बहुत बढ़िया है।
    control+ करके फॉण्ट बड़ा हो जाता है।
    इसलिए पढ़ने में कोई दिक्कत नहीं है।

    ReplyDelete
  10. I tried to read your post. I agree with this post! Thanks for this post!

    ReplyDelete
  11. आपका पोस्ट बहुत ही अच्छा लगा .। मेरे पोस्ट पर आपका स्वागत है । नव वर्ष की अशेष शुभकामनाए ।

    ReplyDelete
  12. नववर्ष की आपको बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ.

    समय मिलने पर मेरे ब्लॉग पर आईयेगा.

    ReplyDelete
  13. सुन्दर रचना -आभार ..

    ReplyDelete
  14. aapki baat aur post dono se sahmat hu.nav varsha ki shubhkamnaein...

    ReplyDelete
  15. badiya vicharniya samsamyik prastuti...
    Navvarsh kee aapko spariwar haardik shubhkamnayen!

    ReplyDelete
  16. बहुत बेहतरीन पोस्ट...........
    मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    ReplyDelete
  17. आपकी प्रस्तुति अच्छी लगी । मेरे नए पोस्ट "लेखनी को थाम सकी इसलिए लेखन ने मुझे थामा": पर आपका बेसब्री से इंतजार रहेगा । धन्यवाद। .

    ReplyDelete
    Replies
    1. Dear friend due to lack of time ,I could not visit at any blogs ,It is regretful,.I always appreciate your writing ,because your write ,in right theme , in right direction , in right time. It is required to our country & countrymen. very very thanks to raise this issue .

      Delete
  18. तार्किक ढंग से अपने औचित्य को प्रबलता से सिद्ध करता हुआ एक विचारणीय और जन जागृत करता हुआ स्वागत योग्य पोस्ट. सर्वथा सार्थक पोस्ट. आभार और बधायी इस औचित्यपूर्ण कृति के लिए.

    ReplyDelete
  19. सही कहा है..
    kalamdaan.blogspot.com

    ReplyDelete
  20. बहुत सुन्दर और पठनीय प्रस्तुति

    ReplyDelete
  21. बहुत बढिया व अच्छी पोस्ट।

    ReplyDelete
  22. लाजबाब,बहुत सुंदर प्रस्तुति,
    !
    एक ब्लॉग सबका '

    ReplyDelete
  23. EXCELLENT POST.
    it must be in INDIA. today or tomorrow this change will come .I AM AGREE WITH YOU.

    ReplyDelete
  24. विषय सार्थक बहुत आपका,
    किन्तु शब्द बहुत छोटे,
    कुछ तो ज्ञान मुझे मिल जाता,
    कुछ तो शब्द बड़े होते।
    कृपया इसे भी पढ़े-
    नेता कुत्ता और वेश्या

    ReplyDelete
  25. खूबसूरत प्रस्तुति

    आपका सवाई सिंह राजपुरोहित
    एक ब्लॉग सबका

    आज का आगरा

    ReplyDelete
  26. Sarthak prayas ke liye badhai...
    ..........

    ReplyDelete
  27. करने के लिए अपने स्वयं के biznys खोलना चाहते हैं?

    जो एक निश्चित मासिक वेतन प्राप्त करना चाहते हैं और कोई पूंजी के साथ, सभी के लिए एक नया अवसर!
    9 / अप्रैल / रात Mvic Anthezw रिकॉर्डिंग समय 2012 का मौका कम करने की संभावना 100% मुक्त है और 100% गारंटी ...
    http://myurl.cz/ternity: पंजीकरण के लिए लिंक


    रजिस्टर में अपने सभी दोस्तों को आमंत्रित करें!
    शुरुआत के लिए, आप अपने ईमेल पते की पुष्टि इससे पहले कि आप अपने खाते का उपयोग कर सकते हैं चाहिए. कृपया, अगर आप 24 घंटे के भीतर आपके इनबॉक्स में एक सत्यापन ईमेल से पुष्टि प्राप्त नहीं है, अपने स्पैम फ़ोल्डर की जाँच करें. यहाँ क्लिक करें: http://myurl.cz/ternity और पुनः पंजीकरण

    ReplyDelete
  28. सुन्दर प्रस्तुति.....बहुत बहुत बधाई...

    ReplyDelete
  29. right to reject and right to recall both are important reforms for India hope soon we will get them.

    ReplyDelete